उत्तराखंड: देवभूमि की इस बेटी ने किया कमाल , दीजिये बधाई!

Uttarakhand News: गोवा में चल रहे राष्ट्रीय खेलों में उत्तराखंड के युवाओं का शानदार प्रदर्शन जारी है। उत्तराखंड की बेटियों ने भी इन राष्ट्रीय खेलों में बढ़ चढ़कर प्रतिभाग किया है और बेहतर प्रदर्शन भी कर रही हैं। उत्तराखंड की एक ऐसी ही बेटी ने राष्ट्रीय स्तर पर राज्य को एक बार फिर गौरवंतित महसूस करवाया है। उत्तराखण्ड के पौड़ी गढ़वाल की बेटी अंकिता ध्यानी ने गोवा में चल रहे राष्ट्रीय खेलों की 1500 मीटर दौड़ में कांस्य पदक जीता है। अपनी इस सफलता से उन्होंने ना केवल अपने क्षेत्र का बल्कि पूरे उत्तराखंड का नाम रोशन किया है। अंकिता ने 1500 मी की दौड़ को केवल 4 मिनट 16 सेकंड में पूरा किया है।

मूल रूप से अंकिता ध्यानी पौड़ी जनपद के जयहरीखाल के ग्राम मेरूड़ा की रहने वाली हैं। वे एक मध्यम परिवार की बेटी है। इस कारण खेल के क्षेत्र में उनका यह सफर आसान नहीं रहा। काफी कठिनाइयों को पार करके अंकिता ध्यानी ने राष्ट्रीय स्तर पर यह सफलता हासिल की है। सीमित संसाधन व अवसर होने के बावजूद भी अंकिता ने कभी हार नहीं मानी। गांव के कठिन माहौल में भी अंकिता अपने ही क्षेत्र के छोटे से मैदान में ट्रेनिंग किया करती थी। उनकी मेहनत और लगन को देखते हुए भारतीय खेल प्राधिकरण ने उन्हें साउथ अफ्रीका में ट्रेनिंग करने का मौका दिया। इसके बाद अंकिता एक के बाद एक सफलता की सीधी चढ़ती रही और आज अलग अलग प्रतियोगिताओं में मेडल जीत कर उत्तराखंड और देश का नाम रोशन कर रही हैं।

इससे पहले अंकिता ने साल 2016 और 17 में एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की तरफ से तेलंगाना में तीन हजार मीटर की दौड़ में प्रतिभाग किया था। यहां उन्होंने पहला स्थान प्राप्त कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया था । साल 2017-18 में रोहतक में आयोजित हुए राष्ट्रीय स्कूल गेम्स में उन्होंने तीन हजार मीटर दौड़ में रजत पदक जीता था। इस के बाद साल 2018-19 में यूथ फेडरेशन की ओर से रांची में आयोजित हुई 1500 मीटर दौड़ में भी उन्होंने एक पदक झटका था। साल 2019-20 में भी उन्हें खेलो इंडिया की तरफ से अलग-अलग दो दौड़ में स्वर्ण पदक हासिल हुए थे। यही नहीं साल 2021 में भोपाल और गुवाहाटी में प्रतिभाग कर उन्होंने वहां भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड – यहां नकाबपोश बदमाशों ने गोली मार कर की ज्वेलर्स की हत्या, हड़कंप

उत्तराखण्ड ओलंपिक एसोसिएशन के महासचिव डीके सिंह ने बताया कि अंकिता को अभी एक और प्रतियोगिता में प्रतिभाग करना है। एक नवंबर को उसकी पांच हजार मीटर की दौड़ होगी। इस दौड़ से एसोसिएशन को उनसे स्वर्ण पदक की उम्मीद है।