उत्तराखंड: देवभूमि में कुछ ऐसा रहेगा मौसम का हाल , शीतलहर से हो सकते हैं बेहाल

उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में बीते हफ्ते हुई बर्फबारी से मौसम ने करवट ली है। बर्फबारी होने के कारण मैदानी क्षेत्रों में हवा का प्रवाह सर्द हो चुका है। इसके साथ ही कुछ दिनों से खिल रही चटक धूप के कारण बढ़े तापमान में भी गिरावट देखने को मिली है।

कुमाऊं का प्रवेश द्वार कहे जाने वाले हल्द्वानी में तीन दिनों के भीतर अधिकतम तापमान 3 डिग्री और न्यूनतम तापमान में 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज हुई है। शुक्रवार को दिन के समय पर अधिकतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 3.5 डिग्री रिकार्ड किया गया था।

मौसम विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान के अनुसार सोमवार से फिर मौसम का मिजाज बदलने की बात कही गयी थी। विभाग के अनुसार रविवार को कुछ पर्वतीय क्षेत्रों में वर्षा हो सकती थी । इसके साथ ही सोमवार और मंगलवार को पहाड़ी क्षेत्रों में हिमपात और हल्की वर्षा होने की संभावना जताई गई है। मैदानी इलाकों में भी हल्की वर्षा का अनुमान लगाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(बड़ी खबर) हल्द्वानी में कॉलेज चुनाव के चलते कल डाइवर्ट रहेगा रूट

उत्तराखंड में सरोवर नगरी की बात की जाए तो, शनिवार को नैनीताल शीत लहर की चपेट में रहा। शनिवार को सर्द हवा के बहने से तेज धूप भी बेअसर रही। आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान के वरिष्ठ वायुमंडलीय विज्ञानी डॉ नरेंद्र सिंह के अनुसार हाल ही में उच्च हिमालय क्षेत्र में हुई बर्फबारी के कारण निचले क्षेत्रों में शीत लहर का प्रकोप बना हुआ है। जीआईसी मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार नगर का अधिकतम तापमान 16 डिग्री व न्यूनतम 5 डिग्री सेल्सियस रहा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: जानिए कैसा रहेगा मौसम का मिज़ाज! आगामी दिनों में मौसम का हाल!

वही उत्तराखंड में पिथौरागढ़ के सीमांत में मौसम ने फिर करवट बदली है। जिले में सुबह की शुरुआत धूप खिलने से हुई, लेकिन दोपहर तक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में घने बादल छा गए और उच्च हिमालय में हिमपात होने लगा।थल मुनस्यारी मार्ग पर कलामुनी, बिटलीधार के अलावा खलिया क्षेत्र में जबरदस्त हिमपात देखने को मिला। इसके साथ ही दोपहर में मुनस्यारी बाजार में भी बर्फ की फाहें गिरने लगी।

उधर धारचूला की दारमा और व्यास घाटी में सुबह से ही हिमपात नजर आने लगा। चीन सीमा से चौथे दिन भी संपर्क भंग रहा। लिपुलेख और दारमा मार्ग से बीआरओ बर्फ हटाने में जुटी हुई थी, लेकिन शनिवार को फिर से हिमपात होने से कार्य प्रभावित हो गया। बता दें कि उच्च हिमालय क्षेत्रों में भारी हिमपात होने लगा।थल मुनस्यारी मार्ग पर कलामुनी, बिटलीधार के अलावा खलिया क्षेत्र में जबरदस्त हिमपात देखने को मिला। इसके साथ ही दोपहर में मुनस्यारी बाजार में भी बर्फ की फाहें गिरने लगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: मौसम विभाग ने मौसम के बारे में दी ये नई अपडेट! पढ़िए पूरी खबर।

बता दें कि उच्च हिमालय क्षेत्रों में भारी हिमपात के चलते जिले भर में ठंडी हवाएं चल रही है, जिससे तापमान में भी गिरावट नजर आ रही है।