उत्तराखंड: मौसम लेगा करवट! नए साल पर ऐसे रहेगा मौसम!

न्यू ईयर पर अपने परिवार के साथ उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों की मनोकामना पूरी होगी। उत्तरकाशी समेत अन्य जिलों में 30 दिसंबर को हिमपात होने की खबर आ रही है। यह बर्फ़बारी मौसम में बदलाव के कारण होगी जिसे ‘पश्चिमी विक्षोभ’ के नाम से भी जाना जाता है।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार पांच पहाड़ी जिलों में बारिश और बर्फबारी की पूरी संभावना है। मौसम विभाग के कार्यवाहक निदेशक डॉ. रोहित थपलियाल से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तराखंड के पांच पहाड़ी जिलों में जल्द ही पश्चिमी विक्षोभ का असर देखने को मिल सकता है।

आपको बता दें कि मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार 30 दिसंबर से 01 जनवरी तक पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश-बर्फ़बारी होने की पूरी संभावना है। चमोली, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़, ये वह पांच जिले हैं जहाँ बारिश और बर्फ़बारी देखने की इच्छा से आ रहे पर्यटकों को निराशा का सामना नहीं करना पड़ेगा। हर वर्ष की तरह नैनीताल में बर्फ़बारी देखने की इच्छा से आने वाले पर्यटकों के लिए भी यह अच्छी खबर है। क्योंकि नैनीताल का मौसम भी सर्दियों में बर्फ़बारी के लिए अनुकूल होता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: देवभूमि की इस महिला किसान ने मशरूम की खेती कर बढ़ाया स्वरोजगार की ओर कदम

डॉ. थपलियाल ने बताया कि प्रदेश में बारिश ना होने के कारण अब तक तापमान सामान्य से ज्यादा बना हुआ है। जिसमे गिरावट आना स्वाभाविक है। और नव वर्ष के समय तापमान में गिरावट आने से थोड़े खराब मौसम का सामना करने के बाद पर्यटकों को बर्फ़बारी भी देखने को मिल सकती है।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री ने एरोमा पार्क काशीपुर का भूमि पूजन कर प्लाटों का किया आवंटन।

न्यू ईयर पर दिल्ली और अन्य राज्यों से पर्यटकों की भारी भीड़ उत्तराखंड पहुँच रही है। लेकिन कुछ क्षेत्रों में घने कोहरे के कारण हवाई यातायात प्रभावित हो रहा है। साथ ही ट्रेन से अपना सफर कर रहे यात्रियों को भी कठिनाईयों से गुज़ारना पड़ रहा है। पर अपने नए साल की शुरुआत देवभूमि से करने की इच्छा रखने वाले पर्यटकों के हौसलों को यह कठिनाइयां रोकती नज़र नहीं आ रही।