उत्तराखंड:देवभूमि के इस गाँव के ग्रामीणों ने पेश की इंसानियत की मिसाल, कलयुग मे भी दिखाई नेक दिली

Uttrakhand News: आज इंसान इस हद तक स्वार्थी हो गया है कि खुद के भले के अलावा उसे कुछ भी लेना देना नही रहा । आपने अक्सर देखा होगा कि सड़क पर जब कभी कोई अनहोनी या हादसे होते है , एक्सीडेंट का रूप में तो बहुत से लोग दूर खड़े होकर तमाशा देखते है । कई लोग तो ऐसे भी है जो घायल होए लोगों का वीडियो बनाते हैं बजाय घायल को मेडिकल चिकित्सा दिलाने के या हॉस्पिटल ले जाने के ।

इंसान का इंसान के प्रति दया भाव खत्म हो रहा है । यदि वीडियो बनाने की जगह घायल को तुरंत हॉस्पिटल ले जाया जाए तो उसकी जान बच सकती है ।

आज के इस कलयुग दौर से बिल्कुल अगल देवभूमि के उत्तरकाशी के सर बडियार पट्टी के डिगाड़ी ग्राम के कुछ ग्रामीणों ने इंसानियत और नेक दिली का ऐसा उदहारण पेश किया है जो तारीफ के काबिल है ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड:शाबाश बेटी! हल्दुचौड़ की आयुषी पहले जिले में फिर राज्य में छाई, पढ़िए पूरी खबर

ग्रामीणों के इस सराहनीय कार्य से ऐसे लोगो को सीखना चाहिए जो बस खुद का स्वार्थ देखते हैं , खुद का फायदा ढूढ़ते हैं ।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(बड़ी खबर) तहसील प्रशासन ने की बकायेदारों की लिस्ट जारी, बड़े-बड़े रसूखदारों के नाम

दरसअल उत्तरकाशी के सर बडियार पट्टी के दिगाड़ी ग्राम में रहने वाली महिला शकुंतला देवी( 52) का स्वास्थ्य अत्यधिक खराब होने के कारण वो चल कर अस्पताल तक जाने में असमर्थ थी ।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(बड़ी खबर) मुख्यमंत्री धामी ने दी करोड़ो की सौगात, की यह घोषणा

ऐसे बुरे समय मे शकुन्तला के गावँ के कुछ लोग मदद के लिए आगे आये । उन्होंने शकुंतला को डंडी – कंडी पर बिठा कर आठ किलोमीटर तक पैदल उपचार के लिए बड़कोट अस्पताल पहुँचाया।

हालांकि शकुंतला की हालत को देखते हुवे वहां के डॉक्टरों ने उन्हें देहरादून के हायर सेंटर में रेफर किया है ।

गाँव के लोगो की इस नेक दिली की हर तरफ चर्चा हो रही है ।