उत्तराखंड: केदारनाथ- बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की तैयारी जोरों पर

Uttarakhand News : केदारनाथ मन्दिर भारत के उत्तराखण्ड राज्य के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित हिन्दुओं का प्रसिद्ध मंदिर है। उत्तराखण्ड में हिमालय पर्वत की गोद में केदारनाथ मन्दिर बारह ज्योतिर्लिंग में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक है।

यहाँ की प्रतिकूल जलवायु के कारण यह मन्दिर अप्रैल से नवंबर माह के मध्‍य ही दर्शन के लिए खुलता है। पत्‍थरों से बने कत्यूरी शैली से बने इस मन्दिर के बारे में कहा जाता है कि इसका निर्माण पाण्डवों के पौत्र महाराजा जन्मेजय ने कराया था।

यहाँ स्थित स्वयम्भू शिवलिंग अति प्राचीन है। आदि शंकराचार्य ने इस मन्दिर का जीर्णोद्धार करवाया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पौधे बचाएंगे तो भविष्य बचेगा, कि तर्ज पर लामाचौड़ के इस स्कूल ने मनाया वन महोत्सव

केदारनाथ-बदरीनाथ सहित चारों धामों के कपाट खोलने की तैयारियों के बीच सिखों के हिमालयी तीर्थ हेमकुंड साहिब के पैदल मार्ग के बर्फ हटाने का कार्य भी जोरों पर चल रहा है। अभी तक 2 किमी पर कार्य पूरा हो गया है। अटलाकोटी ग्लेशियर प्वाइंट पर 500 मीटर के ग्लेशियर हटाये जा चुके हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Breaking News- मुख्यमंत्री धामी के प्रयासों से रामनगर की इस समस्या का हुवा समाधान

अभी 150 मीटर बर्फ काटने का कार्य बाकी रह गया है। सेना के इंजीनियरिंग कोर के जवान बर्फ हटाने और मार्ग सुचारु करने के कार्य में लगे हैं। जानकारी के अनुसार हेमकुंड गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के उपाध्यक्ष और अल्प संख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष सरदार नरेंद्र जीत सिंह बिन्द्रा ने बताया की भारतीय सेना इंजीनियरिंग कोर के जवान हेमकुंड मार्ग को सुचारु करने में जुटे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: बाबा केदार की नगरी में जन्नत का नज़ारा, बर्फबारी के बाद और भी खूबसूरत हुआ केदारनाथ धाम

मार्ग की बर्फ पूरी तरह से हटते ही भक्त केदार नाथ सहित चारो धामों के दर्शन कर पाएंगे।