उत्तराखंड :बेटी को शाबाशी दें…अल्मोड़ा की संगीता किरौला ने इंटरनेशनल चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल

Uttarakhand News : बेटियां लगातार प्रदेश का नाम रोशन कर रही हैं। खेलों के क्षेत्र में भी बेटियों का कद पहले से बढ़ गया है। इस बार अल्मोड़ा जनपद की बेटी संगीता किरौला ने अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। संगीता ने 1500 मीटर दौड़ में यह पदक जीता है। गौरतलब है कि बेटी की इस उपलब्धि से पूरे क्षेत्र में जश्न का माहौल है।

बता दें कि मूल रूप से अल्मोड़ा के ब्लॉक क्षेत्र के मल्ली मिरई की रहने वाली संगीता किरौला एक साथ दो खेलों में निपुण हैं। वह एक ताइक्वांडो खिलाड़ी होने के साथ साथ एथलीट भी हैं। बेटी संगीता अबतक इन दोनों ही खेलों में अबतक 50 से ज्यादा मेडल अपने नाम कर चुकी हैं। अब संगीता ने इंडो नेपाल अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता है।

दरअसल संगीता किरौला ने पिछले महीने मथुरा में आयोजित हुई राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में 15 मीटर की दौड़ में प्रतिभाग किया था। जहां बेटी ने स्वर्ण पदक जीता था। जिसके बाद उन्होंने भारतीय शांति खेल महासंघ द्वारा आयोजित पांचवी इंडो नेपाल अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई किया था। अब इस प्रतियोगिता में भी संगीता ने दोनों देशों की 8 एथलीटों को हराकर स्वर्ण पदक जीता है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(बड़ी खबर) मंडी से लेकर तीन पानी मोड़ तक सड़क बनाए जाने को लेकर अच्छी खबर

जानकारी के अनुसार यह प्रतियोगिता 28 जनवरी से 31 जनवरी तक नेपाल में आयोजित की गई थी। संगीता किरौला के पिता हरीश सिंह किरौला वन विभाग से सेवानिवृत्त हैं जबकि उनकी माता हंसी देवी ग्रहणी हैं। छोटे गांव से निकलकर देश का नाम रोशन करना वाकई सबके लिए प्रेरणादायक बात है। इसका बहुत ज्यादा श्रेय संगीता के माता-पिता को भी जाता है। जिन्होंने बेटी का समय रहते सपोर्ट किया बता दे संगीता मौजूदा वक्त में दिल्ली विश्वविद्यालय के आर्ट्स और कॉमर्स कॉलेज से पढ़ाई कर रही हैं।