उत्तराखंड: देवभूमि के आकाश मधवाल सूर्य कुमार की जगह आईपीएल में खेलते दिखेंगे, दीजिये बधाई

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) से उत्तराखंड के लिए अच्छी खबर आई है। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड (सीएयू) के खिलाड़ी और रुड़की निवासी आकाश मधवाल को मुंबई इंडियंस की टीम में शामिल कर लिया गया है। अनुभवी बल्लेबाज सूर्य कुमार यादव के चोटिल होकर टीम से बाहर होने के बाद आकाश मधवाल को उनकी जगह दी गई है। मुंबई इंडियंस ने अपनी वेबसाइट पर यह जानकारी अपने प्रशंसकों से साझा की है।

सीएयू के सचिव महिम वर्मा ने बताया कि आकाश मधवाल रुड़की के अशोक नगर के रहने वाले हैं। उत्तराखंड की रणजी टीम के सदस्य आकाश दाएं हाथ के मध्यम गति के तेज गेंदबाज हैं। आईपीएल शुरू होने से पहले आकाश मधवाल के साथ सीएयू के तीन खिलाड़ी नीलामी के लिए उपलब्ध 370 भारतीय खिलाड़ियों में शामिल थे, लेकिन तीनों खिलाड़ियों को किसी फ्रेंचाइजी ने नहीं खरीदा। हालांकि, मुंबई इंडियंस से वह पिछले साल की तरह इस बार भी प्रैक्टिस गेंदबाज के रूप में जुड़े थे।

सोमवार को सूर्य कुमार यादव बाएं हाथ की मांसपेशियों में चोट के कारण आईपीएल से बाहर हो गए तो उनकी जगह मुंबई इंडियंस ने आकाश मधवाल को अनुबंधित किया है। आकाश मधवाल को फ्रेंचाइजी बेस प्राइज 20 लाख रुपये भुगतान करेगी। आकाश के नाम प्रथम श्रेणी क्रिकेट में छह मैचों में 10 विकेट और टी-20 के 15 मैचों में 15 विकेट हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- ABVP ने कॉलेज चुनाव के लिए घोषित किया प्रत्याशी

बीटेक पास की, नौकरी भी छोड़ी, पर नहीं छोड़ा क्रिकेट का जुनून


आईपीएल मुंबई इंडियंस टीम में शामिल हुए रुड़की निवासी आकाश मधवाल का क्रिकेट के प्रति जुनून उन्हें मुकाम तक ले गया। पिता की मौत के बाद दो बेटों की परवरिश कर रही मां आशा मधवाल ने जब अपने बेटे की कामयाबी की खबर सुनी तो उनकी आंखे भर आई। आकाश ने किस तरह से बीटेक करने के बाद नौकरी की और क्रिकेट के जुनून में नौकरी को भी छोड़ दिया। यह बताते हुए उनका गला रुंध आया। उन्होंने इतना ही कहा कि ईश्वर ने उन्हें यह बहुत बड़ा उपहार दिया है। अब एक मां ही नहीं बल्कि दुनिया उसके बेटे को क्रिकेट खेलते हुए देखेगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: देवभूमि के इन क्षेत्रों में हो सकती है वर्षा! जानिए मौसम बारे में क्या कहता है मौसम विभाग।

रुड़की के अशोकनगर ढंढेरा निवासी सैन्यकर्मी घनानंद मधवाल की मौत के बाद उनकी पत्नी आशा मधवाल पर बड़े बेटे आशीष मधवाल और छोटे बेटे आकाश मधवाल की परवरिश की जिम्मेदारी थी। आशा मधवाल बताती है कि पति की मौत के बाद दो बेटे ही उनका सहारा थे। जिन्हें पढ़ाने लिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

उन्होंने बताया कि आकाश मधवाल ने कोर कॉलेज रुड़की से बीटेक की पढ़ाई की। यहां से डिग्री लेने के बाद आकाश ने बहादराबाद ब्लॉक में दो साल जेई के पद पर नौकरी भी की। लेकिन आकाश को क्रिकेट का जुनून था और उसने नौकरी छोड़ दी।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -(बड़ी खबर) CM धामी और केंद्रीय मंत्री भट्ट ने दी राज्य स्थापना दिवस की बधाई

आशा मधवाल बताती हैं कि करीब दो साल पहले आकाश ने क्रिकेट एसोसिएशन के माध्यम से हरिद्वार से फार्म भरा था। जिसमें उसका देरहादून के लिए सेलेक्शन हो गया। यह जानकारी जब आकाश ने उन्हें फोन पर दी थी तो उन्हें काफी संतोष हुआ कि उनका बेटा जिस राह पर चलने की ईच्छा रखता है। उसमें उसे कामयाबी मिल रही है।

उन्होंने बताया कि आकाश मुंबई की टीम में पहले से ही शामिल था। लेकिन जब शुरू में जब खिलाड़ियों की बोली में उसका नंबर नहीं आया तो वह काफी दुखी थी। तब उसने आकाश के दोस्तों को भी समझाने के लिए कहा था। लेकिन अब वह दिन आ गया है, जिसका उसे इंतजार था। वहीं दूसरी ओर, रुड़की के इतिहास में भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी ऋषभ पंत के बाद अब आकाश के आईपीएल में शामिल होने पर एक और उपलब्धि जुड़ गई है।