उत्तराखंड: ‘केसी कुलिश’ अवार्ड से सम्मानित देवभूमि की इस पत्रकार को मिला तीलू रौतेली पुरस्कार

Uttarakhand News: देवभूमि की महिलाएं आज हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। आज देवभूमि की महिलाओं ने अपना एक अलग मुकाम हासिल किया है। इसी क्रम में आज हम बात करने हैं राज्य के देहरादून जिले की पत्रकार नलिनी गोसाई की।

उत्तराखंड सरकार ने हर वर्ष की तरह महिलाओं एवं किशोरियों जिन्होंने सामाजिक, कला ,साहित्य ,साहसिक कार्य , शिक्षा एवं संस्कृति के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किया है उन्हें तीलू रौतेली पुरस्कार के लिए चयनित कर उन्हें तीलू रौतेली पुरस्कार से नवाजा है ।

आपको बताते चलें कि नलिनी वेब मीडिया में कार्य करते हैं। नलिनी ने वर्ष 2013 में नारी निकेतन सव वासिनियों के साथ हुई यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठा कर उसका खुलासा भी किया था ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- नौकुचियाताल हिल स्टेशन की BEST LOCATION, केएमवीएन के जरिए बुक कराए हॉलिडे पैकेज

उनके इस साहसिक कार्य के लिए उन्हें केसी कुलिश अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था।

नलिनी ने अपने जीवन में बहुत अधिक संघर्ष किया है । उनका व्यक्तिगत जीवन भी संघर्षों से बरसों से भरा हुआ है। इतने संघर्षों के बाद भी वे जीवन के प्रति कभी निराश नही हुई । समाज के लिए एक आदर्श व्यक्तित्व बन कर सब के सामने आई हैं, इसी लिए सरकार ने नलिनी को तीलू रौतेली पुरस्कार से सम्मानित किया है।