उत्तराखंड- यहां प्रधानाचार्य हो गए निलंबित

खबर शेयर करें -पौड़ी– जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक शिक्षा ने बीरोंखाल के राजकीय प्राथमिक विद्यालय लैंगल के प्रधानाध्यापक विपिन जखमोला को प्रथम दृष्टया मिली जांच रिपोर्ट के बाद निलंबित कर दिया है।

प्रधानाध्यापक पर उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना करने सहित अन्य आरोप हैं। प्रभारी डीईओ बेसिक सावेद आलम ने सीईओ के अनुमोदन के बाद प्रधानाध्यापक के निलंबन के आदेश जारी कर उपशिक्षा अधिकारी कार्यालय बीरोंखाल से अटैच कर दिया है। 25 अक्तूबर 2018 को प्रधानाध्यापक विपिन जखमोला का समायोजन विकासखंड बीरोंखाल के राप्रावि ढंगा से बीरोंखाल के ही राप्रावि लैंगल में हुआ। उन्होंने 1 नवंबर 2018 को कार्यभार ग्रहण किया, लेकिन राप्रावि ढंगा का सामान्य एवं वित्तीय प्रभार हस्तांतरित नहीं किया गया। जो कि विभागीय नियमों, उच्चाधिकारियों के आदेशों की अनदेखी है। उप शिक्षा अधिकारी बीरोंखाल वर्षा भारद्वाज द्वारा कई बार चेतावनी दिए जाने के बाद भी प्रधानाध्यापक द्वारा प्रभार हस्तांतरण न किए जाने के कारण 15 सितंबर

2023 को जांच समिति गठित की गई। जांच समिति द्वारा 22 सितंबर को राप्रावि ठंगा का स्थलीय निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में वित्तीय प्रकरणों के लेजर, कैश बुक अपूर्ण पाए गए। जांच टीम ने इसे वित्तीय अनियमितता माना ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-(वाह) पहाड़ में फूलों की नर्सरी दे रही अच्छा मुनाफा, ऐसा चल रहा काम

इस संबंध में उप शिक्षा अधिकारी वीरोंखाल वर्षा भारद्वाज ने बीती 17 अक्तूबर को अपनी जांच रिपोर्ट, डीईओ बेसिक को भेजी। जिस पर प्रभारी डीईओ बेसिक सावेद आलम ने राप्रावि लैंगल के प्रधानाध्यापक विपिन जखमोला को निलंबित करते हुए उप शिक्षा अधिकारी बीरोंखाल के कार्यालय से संबद्ध करने के आदेश जारी कर दिए हैं। उप शिक्षा अधिकारी थलीसैंण को आरोप पत्र के आधार पर स्पष्ट जांच आख्या संस्तुति सहित बीस दिन के भीतर देने के लिए कहा गया है।
खबर शेयर करें -

Your browser does not support the video tag.

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड :अभिनेता राहुल रॉय को भी भायी देवभूमि, कुछ यूँ की तारीफ

[wp-post-author]