उत्तराखण्ड

हल्द्वानी- गांव के ये युवा हेल्थ और एनवायरमेंट के लिए है सजग, छोटी सी उमर में नेपाल तक कर चुके हैं सफर

हल्द्वानी- जिस उम्र में युवा पढ़ाई और खेलने में व्यस्त रहते हैं अगर उस उम्र में युवाओं को अपने पर्यावरण और स्वास्थ्य की चिंता होने लगे तो यह समझना आसान है कि युवाओं की सोच बदल रही है और उनके अंदर कुछ कर गुजरने का जज्बा बढ़ रहा है। ऐसा ही कुछ लालकुआं बिंदुखत्ता के युवा कर रहे हैं। जो अपनी छोटी सी उम्र में ही। स्वास्थ्य और समाज के लिए न सिर्फ चिंतित हैं बल्कि बदलते पर्यावरण से लोगों को जागरूक करने के लिए भी घर से निकल पड़े हैं।

बिंदुखत्ता के गौतम रावत और राजेश जोशी दोस्ती की शानदार मिसाल है ।दोस्ती भी ऐसी जो समाज को उसकी जिम्मेदारी का एहसास कराएं दोनों दोस्त बचपन से साइकिल चलाते हैं । लेकिन उस साइकिल का महत्व आज के बदलते पर्यावरण के लिए कितना है यह इनकी दोस्ती बता सकती है क्योंकि बदलते वातावरण और विशालकाय प्रदूषण के साथ-साथ अनफिट होते युवा इन दोनों दोस्तों के मोटिवेशन का सबसे बड़ा कारण है क्योंकि गौतम और राजेश बताते हैं कि अगर आज के दौर में अगर आपको फिट रहना है तो साइकिल चलाना जरूरी है और इसी साइकिल को पैशन बनाकर उन्होंने न सिर्फ लंबी लंबी यात्राएं करनी शुरू कर दी हैं बल्कि अपने पर्यावरण के प्रति उन लोगों को जागरूक करने की भी कोशिश शुरू कर दी है ।

शुरुआत में हल्द्वानी ,काठगोदाम, भीमताल ,नैनीताल की साइकिल से यात्रा का संदेश देने वाले यह दोनों दोस्त साइकिल से ही नेपाल तक पहुंच गए हैं यही नहीं इस तकनीकी दुनिया में युवाओं को जागरूक करने के लिए अपने यूट्यूब चैनल गौतम रावत ब्लॉग्स, ट्रैवलर द कबीरा नाम से बनाकर समाज को जागरूक करने का संदेश भी दे रहे हैं। छोटी सी उम्र में इन दोनों युवाओं का उद्देश्य साइकिलिंग की मुहिम से ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़कर समाज को पोलूशन फ्री करते हुए स्वस्थ समाज देने की मुहिम को आगे बढ़ाने का है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: नैनीताल जिले की ये है शानदार जगह, बार - बार आकर भी नही भरेगा आपका दिल
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top