उत्तराखंड :अब होगी उत्तराखंड के स्कूलों में भी रोजगार की पढ़ाई , जानिए क्या हैं कोर्सेज

Uttrakhand news: स्कूली छात्रों के लिए एक बहुत ही अच्छी खबर यह है कि अब उनकी पढ़ाई के साथ-साथ उनके भविष्य के लिए रोजगार की पढ़ाई भी मुहैया कराई जाएगी।

हालांकि इस काम में लगभग 10 साल लग गए परंतु कहते हैं कि सब्र का फल मीठा होता तो छात्रों को भी या मीठा फल खाने को मिलेगा ।उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों में रोजगार की पढ़ाई का रास्ता अब खुल गया है ।

प्रदेश के 200 माध्यमिक स्कूलों में डिप्लोमा कोर्स की तर्ज पर रोजगार से जुड़े आठ अलग-अलग विषय शुरू होने जा रहे हैं ।आगामी 27 अगस्त को शिक्षा मंत्री श्री अरविंद पांडे जी द्वारा इस प्रोजेक्ट को लांच किया जाएगा। शिक्षा मंत्री जी के अनुसार इस प्रोजेक्ट की मदद से छात्र सामान्य शिक्षा के साथ-साथ कौशल विकास की पढ़ाई भी करेंगे ।12वीं कक्षा पास करने के बाद यदि छात्र चाहे तो वे स्वरोजगार भी शुरू कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: स्वरोजगार से बनाई इस महिला ने अपनी अलग पहचान, महिला सशक्तिकरण की पेश की अनोखी मिसाल

रोजगार से जुड़े कोर्स को हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के पाठ्यक्रम में शामिल करने की उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद से वर्ष 2015 में ही स्वीकृति मिल चुकी है ।कक्षा 9 से लेकर 12वीं तक 4 साल तक छात्र को अपने चुने विषय में प्रशिक्षण लेना होगा । 4 साल की अवधि के दौरान छात्र अपने ट्रेड में पूरी तरह से दक्ष हो जाएगा ।हम आपको बता दें कि वर्चुअल क्लासरूम के साथ ही केंद्र सरकार ने राज्य को वर्ष 2010-11 में वोकेशनल कोर्स शुरू करने की अनुमति दी थी लेकिन अब तक कुछ समस्याओं के कारण ये प्रोजेक्ट फाइलों में ही फंसा रह गया । छात्रों को पढ़ाई के साथ साथ अपने भविष्य के लिए रोजगार के कोर्सेज मे टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी, मल्टी स्केलिंग, एग्रीकल्चर, ब्यूटी एंड वैलनेस ,आईटी ,इलेक्ट्रॉनिक्स एंड हार्डवेयर, प्लंबर, रिटेल ,ऑटोमेटिव कोर्सेस का परीक्षण दिया जाएगा ।स्कूली छात्रों के लिए ये बहुत ही अच्छी खबर है कि अब वो पढ़ाई के साथ साथ वे अपने आने वाले भविष्य को भी सवार सकेंगे।