उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: हल्द्वानी के इस व्यक्ति ने अपने किचन गार्डन में उगाए खरबूज

हल्द्वानी: तल्ली हल्द्वानी बिचली गौजाजाली निवासी संजय पांडे इन दिनों अपने किचन गार्डन में मैदानी क्षेत्र में उगने वाले खरबूज की खेती की है जो चर्चा का विषय बना हुआ है । अक्सर देखा जाता है कि खरबूज मैदानी क्षेत्र के रेतीले जगह पर नदियों के किनारे उत्पादित होता है, लेकिन संजय पांडे ने हल्द्वानी स्थित अपने आवास में ही किचन गार्डन में खरबूज तैयार कर दिया है जो मैदानी क्षेत्रों में मिलने वाले खरबूजो से आकार में बड़े हैं।

बरेली रोड निवासी संजय पाण्डे के निवास पर खरबूज की बेल मे खरबूज तैयार हो रहे है । बागवानी के शौकीन संजय पाण्डे के किचन गार्डन में अंगूर, आम, लीची, नारियाल, किन्नू, पुलूम तथा विभिन्न प्रकार क पौधा उगाए हैं । इसके अतिरिक्त संजय ने फूलों को भी लगाया है। यहां तक कि पहाड़ में उत्पादित होने वाला पुलम भी उनके किचन गार्डन में है जो कि पहाड़ पर तैयार होने वाले पुलम से भी ज्यादा स्वादिष्ट है ।

संजय पांडे ने बताया कि उनको विश्वास नहीं हो रहा था कि उनके गार्डन में खरबूजे तैयार हो सकते हैं लेकिन उन्होंने ये कर दिखाया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: देवभूमि द्वाराहाट की इस बेटी ने किया कमाल, बनी सेना में अफसर

खरबूजा खाने से फायदा-

प्रकृति ने आपके खाने के लिए कई फल बनाएं हैं, जो मौसम के अनुकूल पैदा होते हैं। इसके उचित सेवन से मनुष्य अपने शरीर को स्वस्थ रख सकता है। गर्मियों में खरबूज (muskmelon benefits in hindi), ककड़ी, तरबूज जैसे फल मिलने शुरू हो जाते हैं। गर्मी से मुरझाया शरीर और मन दोनों इसे खाते ही तरोताजा हो जाते हैं। खरबूज (Muskmelon Fruit) अपनी मिठास एवं स्वाद के लिये अत्यन्त लोकप्रिय है। खरबूज के बीजों की गिरी का उपयोग पकवान तथा विभिन्न प्रकार की मिठाईयों में मेवे के रूप में किया जाता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top