उत्तराखण्ड

उत्तराखंड : देवभूमि के इस बेटे का हुआ बाल वैज्ञानिक राष्ट्रीय विज्ञान कॉंग्रेस के लिए चयन, दीजिये बधाई

Uttarakhand News : आज उत्तराखंड राज्य में एक से एक प्रतिभाएं उभर कर देश-विदेश अपना नाम कमा रही है। उत्तराखंड की प्रतिभाएं अब किसी परिचय की मोहताज नहीं रही। यह देखकर जहां एक और हर्ष का अनुभव होता है वहीं दूसरी ओर हमें उत्तराखंडी होने पर गर्व भी महसूस होता है।

आज हम‌‌ आपको देवभूमि के एक ऐसे ही छात्र से रूबरू कराने जा रहे हैं जिसने अपनी काबिलियत के दम पर उत्तराखंड एवं अपने परिवार का नाम पूरी दुनिया मे रोशन किया है।

सुयश ने राष्ट्रीय विज्ञान कांग्रेस में बतौर बाल वैज्ञानिक चयनित होकर उत्तराखंण्ड का नाम रोशन किया है । हम बात कर रहे हैं राज्य के उधमसिंह नगर जिले के डायनेस्टी गुरुकुल एकेडमी खटीमा में पढ़ने वाले सुयश‌‌ कलखुड़िया की, बाल वैज्ञानिक के तौर पर जिसका चयन राष्ट्रीय विज्ञान कांग्रेस में हो गया है। उसकी इस सफलता से जहां उनके परिवार में खुशी का माहौल है वहीं पूरे क्षेत्र में भी खुशी की लहर है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडःसेना में अधिकारी बने देवभूमि के भरत, पिता ने कहा बेटा अफसर बन गया

बता दें कि सुयश के अतिरिक्त राज्य के 15 अन्य बाल वैज्ञानिकों का चयन भी राष्ट्रीय विज्ञान कांग्रेस के लिए हुआ है। जिसका आयोजन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद द्वारा 15 से 18 फरवरी तक गुजरात में होगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: देवभूमि के इस रहस्यमई मंदिर के बारे में जानिए ,जहां होती है आंखों में पट्टी बांध के पूजा

यहां राज्य की इन प्रतिभाओं को दूसरे राज्य के छात्र-छात्राओं के साथ प्रतिस्पर्धा का मौका मिलेगा। बता दे कि राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस में चयनित होने से पूर्व छात्र-छात्राओं को पहले विकासखंड स्तर पर, फिर जिला स्तर पर एवं राज्य स्तर पर अपने-अपने वैज्ञानिक माडल प्रस्तुत करने होते हैं। तीनों स्तरों पर सफल होने के बाद ही उन्हें राष्ट्रीय विज्ञान कांग्रेस में शामिल होने का सुनहरा अवसर मिलता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: इसे कहते हैं शानदार वापसी,देवभूमि के इस लाल ने रणजी के पहले ही मैच में झटक लिए चार विकेट

यूके पॉजिटिव न्यूज़ की ओर से सुयश ओर उनके परिजनों को बहुत बहुत बधाई ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top