उत्तराखण्ड

उत्तराखण्ड: चमोली के इस बेटे ने किया कमाल, उत्तराखण्ड का नाम यूँ किया रोशन

Uttarakhand News : भारतीय सेना में जुड़ने के लिए उत्तराखंड के युवाओं में एक अलग ही जुनून देखने को मिलता है। आखिर हो भी क्यों ना, जहां हर परिवार में मातृभूमि के लिए अगाध प्रेम भरा हो। इन्हीं कारणों से भी उत्तराखंड को सैन्य भूमि भी कहा जाता है। चमोली जिले के खल्ला गांव निवासी शशांक बिष्ट (Shashank Bisht NDA) का सेना में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी मे चयन हुआ है। इस खबर से गांव में जश्न का माहौल है।

चमोली जनपद के खल्ला गांव निवासी शशांक बिष्ट के पिता हरेंद्र बिष्ट राजकीय जूनियर हाईस्कूल सरतोली (दशोली) में शिक्षक है तथा माता माता राखी बिष्ट गृहणी हैं। शशांक के दादा शिवराज सिंह बिष्ट सेना में सुबेदार पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं वहीं उनके नाना नरेंद्र सिंह भंडारी भी सेना में सेवा दे चुके हैं। दादा जी से प्रेरित होकर शशांक ने बचपन से ही सेना में जाने का मन बना लिया था और उसे सफल करने के लिए रात-दिन पढ़ाई कर एनडीए की तैयारियों में जुटा रहा। काफी मेहनत के बल पर शशांक ने एनडीए की परीक्षा पास कर डाली।

शशांक ने इंटरमीडिएट की परीक्षा पीस पब्लिक स्कूल गोपेश्वर से उत्तीर्ण की। तत्पश्चात गोपेश्वर में दादी के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी की तैयारियों में जुटा रहा और मेहनत के बल पर शशांक ने एनडीए (Shashank Bisht NDA) की परीक्षा पास कर डाली।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- टोक्यो ओलंपिक में भारत को पदक दिलाने वाले रुद्रपुर के मनोज को सरकार देगी यह तोहफा

इससे बड़ा संयोग कहा देखने को मिलेगा कि जिस समय सती माता अनुसूया मेले से खल्ला की मां अनुसूया की देव डोली वापस लौटी उसी समय शशांक को चयनित होने की सूचना मिली। शशांक का कहना है कि सती माता अनुसूया देवी के आशीर्वाद तथा माता-पिता और दादी के मार्गदर्शन से ही उसे मुकाम हासिल हुआ है। बेटे की कामयाबी पर माता-पिता तथा दादी की खुशी का ठिकाना न रहा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top