उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: देवभूमि की इस बेटी ने कराया गौरवान्वित,समस्त उत्तराखंड को है इस पर नाज़

Uttarakhand News: कहते हैं कि जिन लोगों के इरादे मजबूत होते हैं, सफलता के दरवाजे उन्हीं के लिए खुले होते हैं। ऐसा ही कुछ कर दिखाया चंपावत की मनीषा अधिकारी (Manisha Adhikari Champawat) ने। मनीषा सेना में कमीशन प्राप्त कर एयर फोर्स में फ्लाइंग आफिसर बन गई और अब ट्रेनिंग के बाद भारतीय सेना का लड़ाकू विमान भी उड़ा सकेंगी।

पहाड़ की बेटियां आज विभिन्न क्षेत्रों में रहकर देवभूमि का नाम रोशन कर रही है और साथ-साथ राज्य के युवाओं को भी प्रेरित कर रही है। जिसमें एक ओर नाम जुड़ गया, चंपावत की मनीषा अधिकारी का। नेपाल सीमा से सटे मडलक क्षेत्र के चामा गुरेली ग्राम निवासी मनीषा अधिकारी सेना में कमीशन प्राप्त कर एयर फोर्स में फ्लाइंग आफिसर बन गई है। मनीषा की जिंदगी भी आम पहाड़ी की तरह गुजरी। मनीषा ने प्राथमिक शिक्षा सरस्वती शिशु मंदिर लोहाघाट और माध्यमिक शिक्षा विद्या मंदिर लोहाघाट से पूरी की। जिसके बाद देहरादून डीबीआइटी से बीटेक की डिग्री हासिल की।

मनीषा के पिता गोविंद सिंह अधिकारी सीआरपीएफ में इंस्पेक्टर पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं और मां बसंती अधिकारी ग्रहणी है। परिवार में मनीषा चार बहनों में सबसे छोटी है। बचपन से ही पापा को सेना की वर्दी में देखकर मनीषा के अंदर एक अलग ही ऊर्जा का संचार होता था और वहीं से मनीषा ने सेना में शामिल होने का सपना बना लिया, जिसकी वजह से आज वह अपने सपने को साकार करने में सक्षम हुई। मनीषा की इस सफलता से परिवार में खुशी का माहौल है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top