उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: देवभूमि की इस बेटी ने हार्वेस्ट टेक्नोलॉजी विशेषज्ञ के पद पर चयनित होकर कराया गौरवान्वित

Uttarakhand News : एक वक्त था जब बेटी को पढ़ाई लिखाई से दूर रखा जाता था और कहा जाता था कि उसे पढ़ा कर फायदा भी क्या होगा ? आखिर मां बाप और कुल का नाम तो रोशन बेटा ही करेगा। लेकिन हमारी देवभूमि की बेटियों ने अब इस बात को गलत साबित कर दिया है और अब लोगों की सोच बेटियों के प्रति बदल रही है और उन्हें देखने का नजरिया भी बदल रहा है और यह सब संभव हो पाया है हमारी देवभूमि की प्रतिभावान बेटियों के कारण।

हमारे यहां की बेटियों ने हर क्षेत्र में साबित कर दिया है कि वह किसी भी बेटे से कम नहीं है और अपने मां-बाप और कुल का नाम बेटों की तरह वह भी रोशन कर सकती हैं।

उत्तराखंड की एक और ऐसी ही प्रतिभावान बेटी हैं लीला चौहान , जिससे कि अपने माता-पिता और अपने कुल का नाम रोशन करने के साथ-साथ समस्त उत्तराखंड का नाम भी रोशन कर दिया है और हमें गौरवान्वित कराया है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) राज्य में अगले 4 दिन भारी बारिश का अलर्ट, आज इन जिलों में छुट्टी

लीला चौहान मूल रूप से राज्य के देहरादून जिले के जौनसार बावर क्षेत्र की रहने वाली हैं । लीला का चयन कृषि अभियांत्रिकी हार्वेस्ट टेक्नोलॉजी सब्जेक्ट मैटर स्पेशलिस्ट के पद पर हुआ है।

लीला की इस सफलता से उनके परिवार में खुशी का माहौल तो है ही लेकिन संपूर्ण क्षेत्र में भी खुशी की लहर है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- कड़ी मेहनत और लगन से राकेश ने पाया मुकाम, परिजनों को गर्व

बता दें कि मूल रूप से राज्य के देहरादून जिले के जौनसार बावर के जामा नामक गांव की निवासी लीला चौहान का चयन समस्तीपुर स्थित राजेंद्र कृषि केंद्रीय विश्वविद्यालय में कृषि अभियांत्रिकी हार्वेस्ट टेक्नोलॉजी सब्जेक्ट मैटर स्पेशलिस्ट के पद पर हुआ है। बात करें लीला की प्रारंभिक शिक्षा की लीला ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गांव के स्कूल से प्राप्त की है और उन्होंने इंटरमीडिएट की परीक्षा नवोदय विश्वविद्यालय से पास की है इसके बाद उन्होंने पंतनगर कृषि विश्वविद्यालय में एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट की उपाधि हासिल की फिर उन्होंने आईआईटी खड़कपुर से एमटेक और पीएचडी की उपाधि दी धारण की।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- कुमाऊ के इस रेलवे स्टेशन से कानपुर नई ट्रेन चलाने की कोशिश

लीला की कहानी बहुत ही प्रेरणादायक है क्योंकि लीला बेहद ही सामान्य परिवार से ताल्लुक रखती हैं । और उन्होंने बीटेक की पढ़ाई के लिए बैंक से लोन लिया था । और इसके बाद अब तक की पढ़ाई स्कॉलरशिप से और पीएचडी की डिग्री नेशनल फैलोशिप फॉर हायर एजुकेशन के माध्यम से प्राप्त की है। और हम सब के लिए गर्व की बात यह भी है कि लीला को उत्तराखंड काउंसलिंग ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी की ओर से यंग साइंटिस्ट के अवार्ड से भी नवाजा गया है।

यूके पॉजिटिव न्यूज़ की ओर से हार्दिक बधाइयां एवं शुभकामनाएं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

संपादक –
नाम: चन्द्रा पाण्डे
पता: पटेल नगर, लालकुआं (नैनीताल)
दूरभाष: +91 73027 05280
ईमेल: [email protected]

© 2021, UK Positive News

To Top