उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: देवभूमि की इस बेटी ने पूरा किया अपना इक सपना जबकि कंधों पर थी घर की जिम्मेदारी

Uttarakhand News : कौन कहता है कि आसमां में सुराग नहीं हो सकता एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारो । यह कहावत तो हम सब ने बचपन से सुनी है और आज इस कहावत को सच कर दिखाया है तृप्ति सेमवाल ने।

जी हां आज हम बात कर रहे हैं देवभूमि की बेटी तृप्ति की। तृप्ति सीमांत जनपद उत्तरकाशी के भटवाड़ी ब्लॉक के सॉल्ट गांव की रहने वाली है तृप्ति के पति का नाम ओम प्रकाश सेमवाल है। हम सब को यह बात भली-भांति पता है कि शादी होने के बाद एक लड़की के लिए परिवार की जिम्मेदारी सर्वोपरि होती है। गृहस्थी में रहते हुए अपने सपनों को सच करना कोई आसान बात नहीं है, क्योंकि शादी के बाद बहुत सारी जिम्मेदारियां कंधों पर आ जाती है और एक बहू के रूप में जब एक बेटी को सामंजस्य स्थापित करना होता है तो वह आसान नहीं होता। लेकिन तृप्ति सेमवाल ने अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए अपने बचपन के सपने को पूरा किया है।

दरअसल तृप्ति ने यूजीसी नेट परीक्षा 2021 मैं सफलता प्राप्त की है। घर गृहस्थी के कार्यों में व्यस्त होने के बाद भी तृप्ति ने अपनी पढ़ाई और अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों के बीच सामंजस्य स्थापित करके अपने इस सपने को सच कर दिखाया है। भविष्य में तृप्ति का एक और बड़ा सपना है कि वह यही देवभूमि में रहकर ही पीएचडी करना चाहती हैं और अपने माता पिता पति और ससुराल का नाम रोशन करना चाहती है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पिथौरागढ़ की हिलजात्रा जानिए क्यों है खास और क्या है इसका इतिहास

वर्तमान समय में तृप्ति एएनएम प्रथम वर्ष की छात्रा है और वह इसी क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहती है।

तृप्ति की सफलता से उनके क्षेत्र में खुशी की लहर है वहीं दूसरी और उनके परिवार में भी खुशियां छाई हैं। तृप्ति अपनी सफलता का श्रेय अपने पति और अपने परिजनों को देतीं हैं ।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: मुख्यमंत्री धामी के इस फैसले से हुई करोड़ो की कमाई, पढ़िए पूरी खबर !

यूके पॉजिटिव न्यूज़ की ओर से तृप्ति और उनके पूरे परिवार को हार्दिक बधाई ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top