उत्तराखण्ड

उत्तराखंड : यहां सरकारी स्कूल दे रहे है प्राइवेट स्कूल को मात , देखिए कैसे

Almora News- उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में कुछ सरकारी स्कूलों की छात्र संख्या 50 फीसदी से अधिक बढ़ गई है। जिन स्कूलों में छात्र संख्या बढ़ी है। उन स्कूलों में एक स्पेशल प्रोग्राम चलाया जा रहा है। प्राइवेट स्कूल की तर्ज पर इन सरकारी स्कूलों को रूपांतरण कायर्क्रम के तहत चयनित किया गया है। यहां पर छात्रों को प्राइवेट स्कूल की तर्ज पर ही पढ़ाया जा रहा है।


दरअसल, जिले में साल 2018 में दिल्ली सरकार की तर्ज पर सरकारी स्कूलों में छात्र संख्या बढ़ाने और छात्रों को प्राइवेट स्कूल की तर्ज पर शिक्षा देने के लिए रूपांतरण कायर्क्रम चलाया गया। स्कूलों में स्मार्ट क्लास के अलावा प्राइवेट स्कूल की तरह सभी सुविधाएं छात्रों को दी गई। यह प्रोग्राम अब सफल हो रहा है। नतीजा यह है की जिन स्कूलों में छात्र संख्या पहले बेहद कम थी। उन स्कूलों में अब छात्र संख्या 50 फीसदी से अधिक बढ़ गई है। जिला मुख्यालय के राजकीय प्राथमिक स्कूल दुगालखोला में पहले छात्र संख्या 34 थी, अब 55 हो गई। इसी तरह राजकीय प्राथमिक स्कूल गेवापानी में पहले छात्र संख्या 33 थी अब 82 हो गई है। जिला समन्वयक विद्या कर्नाटक ने बताया कि जिले में अभी 144 स्कूलों को रूपांतरण योजना में शामिल कर किया है। इन स्कूलों में प्राइवेट स्कूल की तरह ही छात्रों को पढ़ाया जा रहा है। इसमें 50 फीसदी स्कूलों में 50 फीसदी से अधिक छात्र संख्या बढ़ गई है। यह बेहद अच्छा है। उन्होंने बताया कि सरकारी स्कूल में अब प्राइवेट स्कूल के छात्र भी प्रेवश ले रहे हैं।

इन स्कूलों में भी बढ़ गई छात्र संख्या-

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : अभिनेत्री जान्हवी को भाया गंगा घाट , शेयर किया वीडियो

राजकीय प्राथमिक विद्यालय बासुलीसेरा में पहले छात्र संख्या 22 थी अब 45 हो गई। राजकीय प्राथमिक विद्यालय मिरीई में पहले छात्र संख्या 25 थी अब 62 हो गई। राजकीय प्राथमिक विद्यालय दुनागिरी में पहले छात्र संख्या 18 थी अब 27 हो गई। बटुलिया में पहले छात्र संख्या 22 थी अब 25 हो गई। जैनोली में पहले छात्र संख्या 18 थी अब 29 हो गई। पिलखोली पहले छात्र संख्या 18 थी अब 30 हो गई। रूपांतरण किये गए अन्य स्कूलों में भी छात्र संख्या बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- टीम घुघुती जागर का पहला गीत लॉन्च, सीधे दिल में उतरता है गीत 'पहाड़ ल्या रयूं'
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top