उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: पहाड़ी फिल्मों को विशेष सब्सिडी देने का प्लान, पहाड़ी क्षेत्रों में बेरोजगारों को मिलेगा रोजगार

देहरादून: मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय स्थित सभागार में विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार ने सूचना विभाग की समीक्षा बैठक ली। बैठक में उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड में फिल्म सिटी के लिए भूमि का चयन कर लिया जाए और इसमें फिल्म उद्योग से सम्बन्धित अवस्थापना विकास के लिए कार्ययोजना बना लें तथा फिल्म सिटी में फिल्म शूटिंग एवं प्रोडक्शन से सम्बन्धित मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराये जाएं।

उन्होने निर्देश देते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्तर के फिल्म प्रशिक्षण संस्थान से सम्पर्क कर उनकी शाखा के रूप में फिल्म प्रशिक्षण केन्द्र उत्तराखण्ड राज्य में खोला जाए। उन्होने कहा कि पर्वतीय एवं सीमान्त क्षेत्रों में मोबाइल थिएटर के लिए सब्सिडी देने की योजना बनाई जाए। उन्होने यह भी कहा कि उत्तराखण्ड राज्य की बोली भाषा पर आधारित किसी फिल्म का चयन यदि राष्ट्रीय, अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के फिल्म फेस्टिवल के लिए होता है तो प्रोत्साहन के लिए विशेष सब्सिडी योजना बनाई जाए।

विशेष प्रमुख सचिवअभिनव कुमार ने उत्तराखण्ड के विश्वविद्यालयों में फिल्म एवं फिल्म निर्माण की विधा से सम्बन्धित कोर्स भी प्रारम्भ करने के लिए निर्देश दिये तथा सीएम हेल्पलाइन से सम्बन्धित विभागीय प्रकरण को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित करने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: का पर्यटन सीजन पीक पर है, एक दिन में इतने लोेगों ने हवाई यात्रा कर बनाया रिकॉर्ड

बता दें कि पिछले कुछ सालों में बॉलीवुड की कई फिल्मो की शूटिंग उत्तराखंड में हुई है। फिल्म निर्माता भी उत्तराखंड को शूटिंग के लिए बेहद उपयोगी मानते हैं। उनका मानना है कि उत्तराखंड की लोकेशन प्राकृतिक हैं और यहां शूटिंग होने से स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा। फिल्म सिटी के बनने से उत्तराखंड युवा जो एक्टिंग के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं उनके लिए किसी तोहफे से कम नहीं होगा। उन्हें अपने काम में निखार लाने के लिए हर वक्त मुंबई पर निर्भर नहीं होना पडेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top