उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: शाबाश भुला! अब भारतीय सेना का हिस्सा बनेगा नैनीताल रामनगर का ये बेटा। बधाई रुकनी नहीं चाहिए

नैनीताल जिले के भरत सिंह कुमइया का सपना साकार हुआ है। वह भारतीय सेना का हिस्सा बनने जा रहे हैं। रामनगर के सेमलखलिया गांव के भरत सिंह कुमइया बचपन से मेघावी छात्र रहे। भरत ने एमपी इंटर कालेज से वर्ष 2015 में हाईस्कूल 86 प्रतिशत व वर्ष 2017 में इंटर 80 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण की। स्कूली शिक्षा हासिल करने के बाद उन्होंने एसडीआरआर पीजी कालेज देहरादून में बीएससी में प्रवेश लिया। वह बचपन से भारतीय सेना का हिस्सा बनना चाहते थे और दो बार असफल होने के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और तीसरे प्रयास में कामयाबी हासिल की।

जून 2021 में ही वायुसेना की संयुक्त परीक्षा में सफल होने के बाद उनका देहरादून में इंटरव्यू फिर दिल्ली में मेडिकल हुआ। 24 जून को परीक्षा का रिजल्ट में उनका चयन भारतीय वायुसेना अकादमी के लिए हुआ और पूरे देश में 9वीं रैंक हासिल हुई। ट्रेनिंग पूरी करने के बाद भरत वायुसेना में फ्लाइंग अफसर बनेंगे।

भरत की जिंदगी उत्तराखंड के हजारों युवाओं की तरह ही रही है जिन्हे कम संसाधनों के बीच निकलकर अपनी पहचान बनानी थी। भरत के पिता देव सिंह कुमइया पिकअप चालक हैं और उनका पर्वतीय क्षेत्रों में सप्लाई का काम है। भरत ने साल 2018 में एनडीए की परीक्षा भी दी थी लेकिन असफल होने के बाद वह हताश नहीं हुए और अपने पिता के संघर्षों से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ते रहे।

यह भी पढ़ें 👉  फिल्म एक्ट्रेस तापसी पन्नू आएंगी नैनीताल, इस तारीख से है शूटिंग शुरू

परिवार में भरत अपनी तीन बहनों का इकलौता भाई है। भरत ने सफलता का श्रेय मां रेवती देवी, बहन आशा, रेनू व मोनिका को दिया। भरत अब एयरफोर्स एकेडमी हैदराबाद में डेढ़ साल की ट्रेनिंग लेंगे। भरत की इस उपलब्धि पर उनके परिजनों में खुशी का माहौल है वहीं क्षेत्र में भी खुशी छाई है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : देवभूमि के इस उभरते हुए क्रिकेटर को दीजिए बधाई, रणजी ट्रॉफी में 50 विकेट लेने वाले दूसरे उत्तराखंडी बने

यूके पॉजिटिव न्यूज़ की ओर से भारत को हार्दिक बधाई।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top