उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: देवभूमि के युवाओं का कमाल, 12 ग्राम का ये उपकरण आसानी से बताएगा दिल का हाल

Uttarakhand News : आत्मनिर्भर बनने की जुगत में स्टार्टअप सबसे बड़ा पैंतरा माना जाता है। हर तरफ स्टार्टअप शुरू करने की होड़ मची हुई है। हमारे उत्तराखंड में तो ऐसे युवाओं की तादाद बहुत ज्यादा है, जो नए नए आइडियाज लेकर दुनिया में बदलाव लाने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे ही बदलाव लाने के लिए मिशन जरूरी होता है। देहरादून में चार दोस्तों के ग्रुप के स्टार्टअप स्पंदन को अब शार्क टैंक इंडिया से एक करोड़ रुपए की डील मिली है।

भारत और खासकर उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाओं का दम तो कोरोना काल में ही टूटता दिख गया था। ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी से गई मासूम लोगों की जानें आज भी देवभूमि का बखूबी याद हैं। लेकिन सही दिशा में काम करने का बीड़ा भी देवभूमि के ही युवाओं ने उठाया है। स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए एक समूह मिशन के तहत काम कर रहा है।

दरअसल 2016 में स्पंदन नमक स्टार्टअप को रजत जैन ने शुरू किया था। इसे सोनी टीवी के मशहूर शो शार्क टैंक इंडिया में एक करोड़ का निवेश मिला है। बता दें कि स्पंदन सनफॉक्स टेक्नोलॉजीज द्वारा सामने रखा गया एक गजब का आइडिया था। इस आइडिया में एक छोटा, पोर्टेबल ईसीजी उपकरण शामिल था। 12 ग्राम का ये उपकरण ना किसी तरह का रेडिएशन देता है और आसानी से जेब में भी आ सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- फिल्म निर्माता बोनी कपूर ने CM से की मुलाकात, बोनी कपूर की इस फिल्म की चल रही है शूटिंग

इस डिवाइस से हृदय में होने वाली दिक्कतों को पकड़ना आसान होता है। हृदय में किसी भी तरह का अजीब व्यवहार इसमें कैद हो जाता है। ये डिवाइस आपको बताती है कि आपका हृदय सही काम कर रहा है या नहीं। आपके ह्रदय का हाल कैसा है । ह्रदय स्वस्थ है या नही ? ऐसे में इस इकलौती डिवाइस से लाखों जान बचाई जा सकती हैं। रजत जैन कहते हैं कि स्वास्थ्य सेवाओं की कमी से किसी की मौत नहीं होनी चाहिए, इसी दिशा में हम काम कर रहे हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top