उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: प्रेरणादायक है इस IAS महिला की कहानी, आसान नहीं था सफर, कड़ी मेहनत ने दिलाई सफलता

यूपीएससी के नतीजे सामने आ चुके हैं। सफलता प्राप्त करने वालों की कहानी कुछ ना कुछ संदेश देती है। वो उन लोगों को भी प्रेरित करेगी जो कुछ मार्जन से रह गए हों। ऐसी ही कहानी है पिलखुवा निवासी शिवांगी गोयल की, जिन्होंने शादी के बाद कामयाबी प्राप्त की। शिवांगी गोयल ने यूपीएससी की परीक्षा में 177 वी रैंक पाई। शिवांगी ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता और अपनी 7 वर्षीय बेटी रैना अग्रवाल को दिया।

शिवांगी बचपन से मेधावी थी। उनकी स्कूल की प्रिंसिपल ने सिविल सर्विसेज़ में जाने की बात कही थी। स्कूल के बाद शिवांगी ने दिल्ली के लेडी श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में दाखिला लिया। इस बीच उनका विवाह हो गया लेकिन ससुराल में उनका उत्पीड़न होता था। बेटी की स्थिति देखकर माता-पिता काफी दुखी तो, उन्हें वापस घर ले आए।

घर आने के बाद शिवांगी ने आईएएस अधिकारी बनने का फैसला किया और तैयारी शुरू कर दी। साल 2019 में पहले प्रयास में उन्हें सफलता भले ही नहीं मिली लेकिन बेटी की परवरिश के साथ उन्होंने तैयारी जारी रखी और तीसरे प्रयास परीक्षा उत्तीर्ण की। शिवांगी के 177 रैंक आने पर उनके घर परिवार में खुशी का माहौल है ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top