उत्तराखण्ड

उत्तराखंड : देवभूमि के भास्कर बने युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत, जानिए इनके बारे में

Uttarakhand News :. कहते हैं जहां चाह वहां राह , इसी कहावत को सच कर दिखाया है देवभूमि के भास्कर ने। आज हम आपको बताने जा रहे हैं भास्कर रमोला के बारे में ,जो कि अल्मोड़ा जिले के अंतर्गत सोमेश्वर के लोद ग्राम के रहने वाले हैं।

भास्कर आजकल के युवा जो कि पहाड़ों से पलायन की ओर भाग रहे हैं, उनके लिए प्रेरणा का स्रोत है। दरअसल भास्कर ने होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद अपने ही जन्मभूमि अर्थात पहाड़ों में स्वयं का स्वरोजगार ‘भूल ना जाना पहाड़ी खाना ‘ नामक अपना खुद का एक रेस्टोरेंट खोला और स्वरोजगार को बढ़ावा दिया।

भास्कर को होटल मैनेजमेंट करने के पश्चात पुणे में एक पांच सितारा होटल से ऑफर आया था लेकिन भास्कर को अपने पहाड़ से बहुत अधिक जुड़ाव था और वह पहाड़ में रहकर कुछ करना चाहते थे इसलिए उन्होंने उस ऑफर को ठुकरा दिया । आज भास्कर ने कड़ी मेहनत से अपना खुद का होटल खोला है जो कि बहुत ही अच्छा चल रहा है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top