उत्तराखण्ड

नैनीताल के आठवीं के छात्र ने कर दिया गजब, छोटी सी उम्र में लिखा रोचक उपन्यास

उत्तराखंड में तरह-तरह की प्रतिभाएं हैं और यहां की प्रतिभा देवभूमि का हमेशा नाम रौशन करती आई है । अब कुछ इसी तरह का काम नैनीताल के आठवीं में पढ़ने वाले छात्र विपुल जोशी ने किया है । जिन्होंने इस छोटी सी उम्र में जादुई दुनिया की कल्पना और रोचक घटनाओं पर आधारित उपन्यास लिख डाला।

मूल रूप से चंपावत जिले के देवीधुरा क्षेत्र के डूंगराकोट और हाल निवासी नैनीताल के मल्लीताल इलाके के विपुल जोशी सेंट जोसेफ स्कूल में कक्षा आठवीं के छात्र हैं उनके पिता हाई कोर्ट में समीक्षाअधिकारी और माता जीआईसी बगड़ में अंग्रेजी की शिक्षिका है। बचपन से ही विलक्षण प्रतिभा के धनी विपुल ने पढ़ाई के साथ साथ रोमांचक वह जादुई किताब लिखना शुरू किया।

पिछले 2 वर्षों में पढ़ाई के साथ-साथ खाली समय में विपुल ने इस उपन्यास को लिखा, कोविड-19 की लॉकडाउन के समय को उन्होंने अवसर में बदलकर अपने इस उपन्यास को पूरा किया, विपुल के इस उपन्यास का का नाम “गैरी एडवेंचर: एलीक्सर ऑफ एंमोर्टलिटी” रखा है जोकि जादुई कल्पना की दुनिया और दोस्तों की कहानी पर रोमांचक घटनाओं पर आधारित है । जिसमें, गैरी नाम का एक साहसी बच्चा अपने माता-पिता द्वारा बनाए गए अमरता के अमृत को खोजता है और हिम्मत से शैतानी शक्तियों का सामना करते हुए अपने गांव को भी बचाता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top