गढ़वाल

उत्तराखंड- शिक्षक पंकज ने कला और हुनर से किया कमाल, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में मिली जगह, जानिए उनका गजब का हुनर

pankaj sundriyal art

Paudi Garhwal News – कहते हैं कला किसी की मोहताज नहीं होती वह अपनी प्रतिभा को खुद को उकेर कर सामने ले आती है। एसी ही प्रतिभा उत्तराखंड के एक शिक्षक के भीतर भी है जिसको इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में जगह दी गई है। पौड़ी गढ़वाल के थलीसैंण ब्लॉक में राजकीय प्राथमिक विद्यालय में बतौर शिक्षक पंकज सुंद्रियाल उभरती हुई प्रतिभा के धनी हैं।

शिक्षक पंकज सुंद्रियाल द्वारा बनाए गए केदारनाथ धाम और कॉर्नर टावर ऑफ चाइना सहित ब्रिटिश चर्च, माचिस की तिल्लीयों से तैयार किया गया है। जिन्हें इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में शामिल किया गया है। पंकज की कला के पीछे उनकी बेजोड़ मेहनत छिपी हुई है पंकज ने साल 2009 में माचिस की तीलियों से केदारनाथ धाम और चर्च के साथ ही ताजमहल बनाने का काम भी शुरू किया।

उन्होंने लगभग 6 महीने में 17 हजार माचिस की तीलियों के साथ केदारनाथ धाम बनाया, साथ ही 6 साल में 1 लाख 25 हजार माचिस की तीलियों से चर्च बनाया और उनके द्वारा इसी तरह की कलाकृतियों के निर्माण को कर इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड के लिए आवेदन किया गया था। जिस पर उनकी इन कृतियों को इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जगह मिली है। साथ ही उन्हें इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड की तरफ से मेडल और सर्टिफिकेट भी दिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- भारत को अंडर-19 विश्वकप जीताने वाले उन्मुक्त चंद शादी के बंधन में बंध गए, जानिए कौन है उनकी दुल्हन जो कुमाऊंनी पिछौड़े में आईं नजर

पेशे से शिक्षक पंकज सुंद्रियाल ने बताया कि भविष्य में उनकी योजना इस काम को व्यवसायिक रूप देने की है जिससे कि स्थानीय लोगों और छात्रों को इस कला के साथ जोड़ा जाए और वह आगे चलकर स्वरोजगार का रूप हासिल कर सके। पंकज इससे पूर्व कई समारोह में सम्मानित हो चुके हैं उनकी इस तरह की कलाकृतियों को खूब सराहा जाता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top